Subscribe

News Features-hin166 Videos

जयंत चौधरी का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू

चलचित्र अभियान का जयंत चौधरी से खास इंटरव्यू। इस साक्षात्कार में हम कई मुद्दों पर चर्चा करते हैं जो उत्तर प्रदेश राज्य, विशेष रूप से पश्चिमी उत्तर प्रदेश को प्रभावित करते हैं। गन्ना किसानों की समस्याओं और चल रहे किसान आंदोलन से लेकर बढ़ती बेरोजगारी, सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा की स्थिति और महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता […]

क्यों 12वी से प्रमोट हुए विद्यार्थी हैं त्रस्त?

केंद्र और यूपी राज्य सरकारों ने हाल ही में घोषणा की थी कि कक्षा 12 के विद्यार्थियों को उनकी अंतिम बोर्ड परीक्षा दिए बिना पदोन्नत किया जाएगा। उनके कक्षा 12 के अंक कक्षा 10 और 11 और 12 वीं प्री-बोर्ड (यदि स्कूल ने वह परीक्षा आयोजित की है) से उनके अंकों को मिलाकर निर्धारित किया […]

स्वास्थ्य की बात 9: क्यों झोला छाप डॉक्टरों पर निर्भर है यूपी

उत्तर प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में अच्छी सुविधा ना होने के कारण से आम आदमी और मज़दूर वर्ग झोलाछाप डॉक्टर के पास जाने को मज़बूर हैं। नेशनल हेल्थ प्रोफाइल के अनुसार, भारत में हर दस हज़ार लोगों के लिए सिर्फ एक एलोपैथिक डॉक्टर है। चलचित्र अभियान की रिपोर्ट।   टीम: मोहम्मद शाकिब रंगरेज़, वसीम

यूपी के किसान मानसिक तनाव में कर रहे फसल बर्बाद

मानसिक तनाव में आकर उत्तर प्रदेश के कई किसानों ने अपनी ख़ुद की फसले बर्बाद करी| पिछले एक साल में उत्तर प्रदेश में करीब 20 किसानों ने आत्महत्या कीI 76 प्रतिशत किसान अपनी बुरी अवस्था के चलते किसानी छोड़ देना चाहते है |

दिल के मरीज़ क्यों हो रहे है परेशान

देश में लगातार दिल के मरीजों की संख्या बढ़ रही हैं | दिल की बीमारी का इलाज बहुत महंगा होने के कारण बहुत से लोग अपना इलाज नही करवा पाते है और उन्हें अपनी जान गवानी पड़ती हैं | देखिये लोगों की कहानी उनकी ज़ुबानी| चलचित्र अभियान की रिपोर्ट

शामली महापंचायत में उमड़ा किसानों का जनसैलाब

पश्चिम यूपी  में लगातार तीन कृषि कानूनों के खिलाफ़ आन्दोलन तेज़ हो रहा हैं | 05 फ़रवरी 2021 को शामली ज़िले के भैसवाल गाँव में  किसानों की एक महापंचायत हुई जिसमे हजारों की संख्या में किसानों शामिल हुए | चलचित्र अभियान की एक रिपोर्टl   विशाल स्टोनवाल , अनन्त दास , आयन क़ुरैशी, मोहम्मद शाकिब रंगरेज़

यूपी में हिन्दू-मुस्लिम फिर साथ’ ग़ुलाम मोहम्मद जौला

सितंबर 2013 के उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर और शामली ज़िलों के दंगे के बाद हिन्दू-मुस्लिम किसानों की एकता टूट गयी थी। भारतीय किसान यूनियन के नेता गुलाम मोहम्मद जौला दंगे के बाद यूनियन से अलग हो गए थे। चलचित्र अभियान ने गुलाम मोहम्मद जौला से बात की और जाना कि कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ चल […]

शामली के मेहनतकश- कचरा बीनने वाली महिला मज़दूर

पश्चिम उत्तर प्रदेश के ज़िला शामली के क़स्बा कांधला में शबनम और बिल्किश जैसी बहुत सी महिलाएं 160 रुपए प्रतिदिन कूड़ा बीनने का कार्य करती है और इस कार्य के साथ-साथ घर का कार्य भी करती हैं | चलचित्र अभियान की प्रस्तुति करता है ‘शामली मेहनतकश महिलाएं’ भाग- 6

यूपी के किसानों ने बीजेपी नेताओं को क्यों खदेड़ा ?

यूपी में शामली ज़िले के भैंसवाल गाँव में खाप चौधरियों से मिलने गए बीजेपी नेताओं और मुज़फ्फ़रनगर से सांसद संजीव बालियान का किसानों ने किया जमकर विरोध | किसानों का कहना है कि अब बीजेपी नेताओं का हमने पूर्णरूप से बहिष्कार कर दिया हैं | चलचित्र अभियान की रिपोर्ट |   टीम: विशाल स्टोनवाल , […]

मुज़फ्फरनगर: किसानों और भाजपा नेताओं के बीच झड़प

22 फ़रवरी को मुज़फ्फरनगर से सांसद और केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान के समर्थक और ग्रामीणों के बीच शाहपुर के गांव सोरम में मारपीट हुई| ये तब हुआ जब ग्रामीण किसान आंदोलन के समर्थन में नारे लगा रहे थे| चलचित्र अभियान की रिपोर्ट |   टीम: मोहम्मद शाकिब रंगरेज़, मोहम्मद सावेज़ चौहान