Subscribe Support our Abhiyaan

Class-NewsFeatures-hin54 Videos

ठेका प्रथा के ख़िलाफ़ दलितों का महा आंदोलन

उत्तर प्रदेश के 27 जिलों में सफ़ाई कर्मियों के र्काय के निजीकरण के खिलाफ़ 12 जुलाई, 2019 को मेरठ में विशाल विरोध प्रदर्शन हुआ | विरोध प्रदर्शन में कई दलित संगठनों ने हिस्सा लिया | चलचित्र अभियान की एक रिपोर्ट | टीम – नकुल सिंह साहनी, राहुल शेरवाल, विशाल कुमार

310 सफ़ाई कर्मियों के 48 लाख रुपये लेकर ग़ायब कम्पनी

यू.पी के मुज़फ़्फ़रनगर ज़िले के 310 सफ़ाई कर्मचारियों को ठेके पर एक कम्पनी ने काम पर रखा था। कर्मचारियों को पिछले 2 से 3 महीनें की तनखाएँ नहीं मिली थी और कम्पनी के प्रतिनिधि ग़ायब हो गए। कर्मचारी मुख्य रूप से दलित महिलाएँ हैं। वह पिछले कई दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रही हैं लेकिन […]

कश्यप समाज के साथ दबंगो ने की मारपीट

9 जून 2019 को कांधला कसबे के दुधार गाँव में कुछ गुज्जर दबंगों ने कश्यप समाज के लड़कों को पीटा। पीड़ित के परिवार वालों का कहना है की पुलिस ने इस मामले में अभी तक कोई जांच या गिरफ्तारी नहीं की है क्यूंकि आरोपी गुज्जर समाज से हैं। गाँव के बहुत से लोगों ने कहा […]

14 साल की दलित मज़दूर लड़की की जलकर हुई मृत्यु

24 मई 2019 को मुज़फ्फरनगर ज़िले के एक ईंट भट्टे में 14 साल की दलित लड़की की जलकर मृत्यु हुई। जहाँ एक तरफ ईंट भट्टा मालिक और आसपास रहने वाले मज़दूरों का कहना है की लड़की की मौत रात में उसके कमरे में आग लगने से हुई, लड़की के परिवार का आरोप है की लड़की […]

मोदी के गोद लिए गाँव का सच

2014 लोक सभा चुनाव में वाराणसी से सांसद बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने 4 गाँव गोद लिए थे जिनको उन्होंने आदर्श गाँव बनाने की बात की थी। नागेपुर इन 4 गाँवों में से एक है। चलचित्र अभियान की टीम नागेपुर पहुंची पर वहाँ विकास केवल एक खोखला शब्द नज़र आया। टीम – आर्यन माटा, […]

निष्कासित जवान तेज बहादुर यादव से चुनावी चर्चा

तेज बहादुर यादव ने बी.एस.एफ़ में रहते हुए जब जवानों के खाने की स्थिति दिखाते हुए वायरल वीडियो बनाई तो उन्हें उम्मीद थी कि उन्हें न्याय मिलेगा। लेकिन न्याय की जगह उन्हें बी.एस.एफ़ से निष्कासित कर दिया गया। उसके बाद भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ उन्होंने अपनी इस मुहीम में उन्होंने फ़ैसला किया कि वह नरेंद्र मोदी […]

आज़मगढ़ को आतंकगढ़ कह कर किसने किया बदनाम?

एक समय था जब आजमगढ़ अपने साहित्य, कला और प्रगतिशील आंदोलनों के लिए जाना जाता था। पर कुछ साल पहले आज़मगढ़ को ‘आतंकगढ़’ कह कर बदनाम किया गया। उसके बाद ज़िले के कई नौजवान, ख़ास कर मुस्लिम नौजवानों को आतंक के इल्ज़ामों में गिरफ़्तार किया गया। चलचित्र अभियान ने ज़िले के रिहाई मंच के कार्यकर्ताओं […]

‘चीनी मिल चालू करो वरना कुर्सी खाली करो’

कुशीनगर जिले के भटोलिया टोला में 2008 से एक चीनी मिल बंद है जिसकी वजह से यहाँ के लोगों का गन्ना बिक नहीं रहा है और सड़ रहा है। सभी सरकारों ने इतने सालों में किसानों से कई वादे किये पर किसी ने भी मिल चालू नहीं करवाया। गाँव वालों ने इसके खिलाफ प्रदर्शन भी […]

योगी राज में राप्ती नदी को खतरा

राज्य सरकार के राप्ती नदी, जो कि गोरखपुर से निकलकर घाघरा में जुड़ती है, की दिशा बदलने के फैसले से आसपास के गाँवों के लोग बहुत नाराज़ हैं। दिशा बदलने से बहुत से गाँव और खेत के डूबने की सम्भावना है। जनता का गुस्सा और भी बढ़ गया है क्यूंकि सरकार इस फैसले का कोई […]

योगी के गढ़ में क़ुरेशी भुखमरी की कगार पर

2017 में उत्तर प्रदेश में आदित्यनाथ योगी की सरकार बनने के बाद, अवैध बूचड़खाने बंद करने के नाम पर, भैस का ग़ोश्त के बूचड़खाने बंद किये गए। नियमों का पालन करने के बावज़ूद भी वैकल्पिक बूचड़खाने खोलने की जगह अभी तक नहीं मिली। इस की वजह से गोरखपुर का मुस्लिम क़ुरेशी समाज, जो पुश्तैनी रूप […]