Subscribe Support our Abhiyaan

Class-NewsFeatures-hin59 Videos

शामली के मेहनतकश – कुम्हार

शामली में मेहनत कर रहे मज़दूरों की समस्याओं को समझने के लिए, चलचित्र अभियान ने यह शृंखला शुरू करी है। विजयपाल जिला शामली के नाला गाँव का आखरी कुम्हार है, पर अब उसे यह पारंपरिक व्यवसाय को करते रहने में बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, जिसके चलते उसका यह काम बंद […]

इस दिवाली होमगार्ड्स के घरों में अँधेरा क्यों?

अक्टूबर के महीने में उत्तर प्रदेश सरकार ने 92000 अवैतनिक होमगार्ड्स में से लगभग 41500 होमगार्ड्स की ड्यूटी रोक दी | सरकार के इस फैसले से रोज़ के वेतन पर निर्भर यह होमगार्ड्स बेरोज़गार हो गए हैं और उनपर आर्थिक संकट आ गया है | वह इस फैसले से नाखुश हैं और अपनी मांगों के […]

कैराना के रेड़ी पटरी वाले बेदख़ल क्यों ?

पिछले महीने कैराना नगरपालिका ने शहर के सभी रेड़ी पटरी वालों को उनकी जगह से हटाकरने सराय मोहल्ले नाम के एक नए वेंडिंग ज़ोन में जाने का आदेश दे दिया (25 जून 2019 को नगरपालिका ने सराय मोहल्ले के 28 मुस्लिम परिवारों के घर तोड़ दिए थे | इसपर चलचित्र अभियान की रिपोर्ट देखने के […]

चलचित्र अभियान- अभी तक का सफ़र

चलचित्र अभियान का ख़याल 2013 के दंगों के बाद आया था जब हमें यह एहसास हुआ कि कैसे सोशल मीडिया (और मुख्य धारा की मीडिया के कुछ अंश भी) दंगे भड़काने और माहौल ख़राब करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा था।पश्चिम उत्तर प्रदेश के कई लोगों को एक वैकल्पिक मीडिया की ज़रूरत महसूस हुई […]

ईयरफ़ोन खरीदने पर हुई मॉब लिंचिंग

26 अगस्त 2019 को कारी उवैश नामक एक नौजवान की पुरानी दिल्ली में एक भीड़ द्वारा पीट पीट कर हत्या की गई।कारी उवैश उत्तर प्रदेश के शामली ज़िले का निवासी था। उसके घरवालों का कहना है कि उसके केस को कमज़ोर किया जा रहा है और पुलिस निष्पक्ष जांच नहीं कर रही है और आरोपियों […]

ठेका प्रथा के ख़िलाफ़ दलितों का महा आंदोलन

उत्तर प्रदेश के 27 जिलों में सफ़ाई कर्मियों के र्काय के निजीकरण के खिलाफ़ 12 जुलाई, 2019 को मेरठ में विशाल विरोध प्रदर्शन हुआ | विरोध प्रदर्शन में कई दलित संगठनों ने हिस्सा लिया | चलचित्र अभियान की एक रिपोर्ट | टीम – नकुल सिंह साहनी, राहुल शेरवाल, विशाल कुमार

310 सफ़ाई कर्मियों के 48 लाख रुपये लेकर ग़ायब कम्पनी

यू.पी के मुज़फ़्फ़रनगर ज़िले के 310 सफ़ाई कर्मचारियों को ठेके पर एक कम्पनी ने काम पर रखा था। कर्मचारियों को पिछले 2 से 3 महीनें की तनखाएँ नहीं मिली थी और कम्पनी के प्रतिनिधि ग़ायब हो गए। कर्मचारी मुख्य रूप से दलित महिलाएँ हैं। वह पिछले कई दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रही हैं लेकिन […]

कश्यप समाज के साथ दबंगो ने की मारपीट

9 जून 2019 को कांधला कसबे के दुधार गाँव में कुछ गुज्जर दबंगों ने कश्यप समाज के लड़कों को पीटा। पीड़ित के परिवार वालों का कहना है की पुलिस ने इस मामले में अभी तक कोई जांच या गिरफ्तारी नहीं की है क्यूंकि आरोपी गुज्जर समाज से हैं। गाँव के बहुत से लोगों ने कहा […]

14 साल की दलित मज़दूर लड़की की जलकर हुई मृत्यु

24 मई 2019 को मुज़फ्फरनगर ज़िले के एक ईंट भट्टे में 14 साल की दलित लड़की की जलकर मृत्यु हुई। जहाँ एक तरफ ईंट भट्टा मालिक और आसपास रहने वाले मज़दूरों का कहना है की लड़की की मौत रात में उसके कमरे में आग लगने से हुई, लड़की के परिवार का आरोप है की लड़की […]

मोदी के गोद लिए गाँव का सच

2014 लोक सभा चुनाव में वाराणसी से सांसद बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने 4 गाँव गोद लिए थे जिनको उन्होंने आदर्श गाँव बनाने की बात की थी। नागेपुर इन 4 गाँवों में से एक है। चलचित्र अभियान की टीम नागेपुर पहुंची पर वहाँ विकास केवल एक खोखला शब्द नज़र आया। टीम – आर्यन माटा, […]