Subscribe Support our Abhiyaan

जाति

ठेका प्रथा के ख़िलाफ़ दलितों का महा आंदोलन

उत्तर प्रदेश के 27 जिलों में सफ़ाई कर्मियों के र्काय के निजीकरण के खिलाफ़ 12 जुलाई, 2019 को मेरठ में ...
देखें

310 सफ़ाई कर्मियों के 48 लाख रुपये लेकर ग़ायब कम्पनी

यू.पी के मुज़फ़्फ़रनगर ज़िले के 310 सफ़ाई कर्मचारियों को ठेके पर एक कम्पनी ने काम पर रखा था। कर्मचारियों को ...
देखें

मॉब लिंचिंग बंद करो

चलचित्र अभियान ने कई और प्रगतिशील संगठनों के साथ देश में बढ़ती हुई मॉब लिंचिंग की घटनाओं के ख़िलाफ़ काँधला ...
देखें

कश्यप समाज के साथ दबंगो ने की मारपीट

9 जून 2019 को कांधला कसबे के दुधार गाँव में कुछ गुज्जर दबंगों ने कश्यप समाज के लड़कों को पीटा। ...
देखें

14 साल की दलित मज़दूर लड़की की जलकर हुई मृत्यु

24 मई 2019 को मुज़फ्फरनगर ज़िले के एक ईंट भट्टे में 14 साल की दलित लड़की की जलकर मृत्यु हुई। ...
देखें

‘अब दलितों को घर से बाहर निकाल कर मारेंगे’

मेरठ के लावड़ गाँव में कुछ सवर्णों ने दलित लड़कों को क्रिकेट खेलने से रोकने के लिए उन पर हमला ...
देखें

आज़मगढ़ में दलितों ने कहा नहीं चाहिए मोदी

2 अप्रैल 2018 को देश भर में एस.सी-एस.टी ऐक्ट में तब्दीली के ख़िलाफ़ भारत बंद का ऐलान हुआ। उसके बाद ...
देखें

आज़मगढ़ को आतंकगढ़ कह कर किसने किया बदनाम?

एक समय था जब आजमगढ़ अपने साहित्य, कला और प्रगतिशील आंदोलनों के लिए जाना जाता था। पर कुछ साल पहले ...
देखें

आज़मगढ़ की दलित महिलाओं ने रचा था इतिहास

2 अप्रैल 2018 एक ऐतिहासिक दिन था। पूरे भारत में इस दिन एस.सी./एस.टी. के सुप्रीम कोर्ट द्वारा कमज़ोर किये जाने ...
देखें
Loading...
(Visited 28 times, 1 visits today)